देशभर में 69वां गणतंत्र दिवस हर्षोल्लाष के साथ मनाया गया

1- 26 जनवरी 1950 को भारत का संविधान प्रभावी हुआ था।

2- भारत देश इस बार 69वां गणतंत्र दिवस मना रहा है।

3- 15 अगस्त 1947 को देश को लाखों लोगों के बलिदान के बाद स्वाधीनता प्राप्त हुई थी।

4- इस दिन ब्रिटेन की महारानी और दमनकारी ब्रिटिश उपनिवेशवाद के शासन से मुक्ति जरूर मिली, लेकिन 200 वर्षों की गुलामी से मिली यह मुक्ति पर्याप्त नहीं थी।

5- भारतीयों को प्रतिष्ठित जीवन जीने के लिए उन अधिकारों, कर्तव्यों और जिम्मेदारियां की जरूरत थी, जिन्हें 2 वर्ष 11 महीने और 18 दिन की मेहनत लगाकर तैयार किए गए दुनिया के सबसे बड़े लिखित संविधान ने सुनिश्चित किया।

राष्ट्रपति ने वायुसेना के गरुड़ कमांडो ज्योति प्रकाश निराला को अशोक चक्र (मरणोपरांत) से सम्मानित किया:

1- गणतंत्र दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने वायुसेना के शहीद गरुड़ कमांडो ज्योति प्रकाश निराला को शांति काल के सर्वोच्च सम्मान अशोक चक्र से सम्मानित किया।

2- निराला ने जम्मू-कश्मीर के हाजिन इलाके में पिछले साल नवंबर में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में अकेले ही 3 आतंकियों को मार गिराया था।




एमसीए ने सरकार प्रक्रिया पुन अभियांत्रिकी (GPR) पहल आरंभ की

1- भारत सरकार विश्‍व बैंक द्वारा वार्षिक रूप से प्रकाशित रैंकिंग के अनुसार, ‘व्‍यवसाय करने में’ शीर्ष 50 देशों में स्‍थान हासिल करने के लिए प्रतिबद्ध है।

2- पिछले तीन वर्षों के दौरान कंपनी मामलों के मंत्रालय (MSA) ने देश में व्‍यवसाय करने की सरलता की रैंकिंग में सुधार लाने की दिशा में उल्‍लेखनीय योगदान दिया है, लेकिन विशेष रूप से किसी व्‍यवसाय को आरंभ करने के संबंध में अभी सुधार की और बहुत गुंजाइश है।

3- इस वर्ष 69वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर सरकार प्रक्रिया पुन-अभियांत्रिकी (GPR) पहल आरंभ कर रहा है, जिससे कि किसी नए व्यवसाय को आरंभ करने के लिए आवश्‍यक प्रक्रियाओं को त्‍वरित, सुगम, सरल बनाने एवं उनकी संख्‍या में कमी लाने हेतु संयोजन प्रक्रिया बनाई जा सके।

गणतंत्र दिवस 2018 की पूर्व संध्या पर वीरता पुरस्कारों की घोषणा की गई

1- राष्ट्रपति ने 390 वीरता पुरस्कारों और अन्य रक्षा अलंकरणों की स्वीकृति दी है।

2- 69वें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर घोषित वीरता पुरस्कारों में एक अशोक चक्र, एक कीर्ति चक्र, 14 शौर्य चक्र, 28 परम विशिष्ट सेवा पदक और चार उत्तम युद्ध सेवा पदक शामिल हैं।

3- 10 युद्ध सेवा पदक, 86 सेना वीरता पदक, 3 वायु सेना वीरता पदक, एक अति विशिष्ट सेवा पदक और 121 विशिष्ट सेवा पदकों की घोषणा की गई है।

4- शांतिकाल का सर्वोच्च पुरस्कार अशोक चक्र भारतीय वायु सेना के ज्योति प्रकाश निराला को आतंकवादियों से मुकाबले में उत्कृष्ट वीरता के लिए मरणोपरांत दिया जा रहा है। मेजर विजयंत बिष्ट को कीर्ति चक्र से सम्मान देने की घोषणा की गई।




सरकार ने 2016 के लिये प्रधानमंत्री श्रम पुरस्कारों की घोषणा की

1- केंद्र सरकार ने 2016 के लिये प्रधानमंत्री श्रम पुरस्कारों की घोषणा की। यह पुरस्कार विभागीय उपक्रमों, लोक उपक्रमों तथा निजी क्षेत्र की इकाइयों के 50 श्रमिकों को दिया जाएगा।

2- इस साल कुल 32 श्रम पुरस्कार दिये जाएंगे लेकिन यह पुरस्कार पाने वाले कर्मचारियों की संख्या 50 हैं, इसमें तीन महिलाएं शामिल हैं। 34 सार्वजनिक क्षेत्र से तथा 16 निजी क्षेत्र के श्रमिकों को यह पुरस्कार मिला है।

3- श्रम पुरस्कारों की चार श्रेणियां हैं: श्रम रत्न पुरस्कार, श्रम भूषण पुरस्कार, श्रम वीर/श्रम वीरांगना और श्रम श्री/श्रम देवी पुरस्कार। इस वर्ष प्रतिष्ठित श्रम रत्न पुरस्कार के लिये कोई नामांकन उपयुक्त नहीं पाये गये। सेल, भेल तथा टाटा स्टील के 12 श्रमिकों को श्रम भूषण से पुरस्कृत किये जाने की घोषणा की गयी है। इसके तहत एक लाख रुपये नकद और सनद दिया जाता है।

4- श्रम एवं रोजगार मंत्रालय हर साल प्रधानमंत्री श्रम अवार्ड की घोषणा करता है।

5- ये पुरस्कार श्रमिकों के बेहतर कार्य, अनूठी क्षमता, उत्पादकता के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान आदि के लिये दिये जाते हैं।

उत्तर प्रदेश में 6517 करोड़ रूपये की लागत वाली सात राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का उद्घाटन

1- केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री भारत सरकार नितिन गडकरी ने पूर्वांचल के तीन जिलों महाराजगंज, देवरिया तथा गाजीपुर में प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की उपस्थिति में रुपये 6517 करोड़ की लागत से बनने वाले 246 किमी लम्बे सात महत्वपूर्ण राष्ट्रीय मार्गों के निर्माण एवं चौड़ीकरण कार्य का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया।

2- महाराजगंज में 561.88 करोड़ की परियोजनाओं देवरिया में 875 करोड़ की परियोजनाओं तथा गाजीपुर में 5080 करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया गया है।

3- जोजिला सुरंग में रेलवे लाइन बिछाने हेतु आईएल एण्ड एफएस ट्रांसपोर्टेशन के साथ समझौता ज्ञापन हस्ताक्षर किये गए |




अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ‘ड्रीमर्स’ को नागरिकता देने के लिए तैयार हुए

1- पहली बार अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने संकेत दिए हैं कि वह ‘ड्रीमर्स‘ को नागरिकता देने के लिए तैयार हैं, उन्होंने कहा है कि अगले 10 से 12 वर्षों में इनको अमेरिकी नागरिकता मिल सकती है।

2- खास बात यह है कि ट्रंप के इस कदम से वैध दस्तावेजों के बिना रह रहे भारतीय मूल के हजारों प्रवासियों को फायदा होगा, जो अब तक अनिश्चितता के साथ रहते आए हैं।

3- अमेरिका में सात हजार भारतीयों के अलावा करीब 6 लाख 90 हजार अन्य देशों के ‘ड्रीमर्स’ हैं।

4- ड्रीमर्स करीब 6.9 लाख अप्रवासी उस समय बच्चे थे जब वे अवैध तरीके से अमेरिका पहुंच गए थे।

5- ‘ड्रीमर्स’ शब्द इन्हीं लोगों के लिए इस्तेमाल किया जाता है, जो बिना वैध कागजात के अमेरिका में रह रहे हैं।

WBO रैंकिंग की सुपर मिडिलवेट श्रेणी में मुक्केबाज विजेंदर सिंह छठे स्थान पर

 1- भारत के मुक्केबाजी स्टार विजेंदर सिंह सुपर मिडिलवेट वर्ग की नवीनतम डब्ल्यूबीओ रैंकिंग में चार पायदान की छलांग से छठे स्थान पर पहुंच गए।

2- विजेंदर ने पिछले महीने घाना के अर्नस्ट अमुजु के खिलाफ अपने डब्ल्यूबीओ एशिया पैसिफिक और ओरिएंटर सुपर मिडिलवेट बेल्ट का सफल बचाव किया था।

3- WBO सुपर मिडिलवेट रैंकिंग में अमेरिकी सुपर मिडिलवेट चैंपियन जेसे हार्ट शीर्ष पर हैं, जिनके बाद ब्रिटेन के कैलम स्मिथ मौजूद हैं। वर्ष 2010 राष्ट्रमंडल खेलों के रजत पदकधारी स्मिथ ने 2015 से पिछले वर्ष तक यूरोपीय, ब्रिटिश और डब्ल्यूबीसी सिल्वर सुपर मिडिलवेट खिताब पर कब्जा बनाए रखा था।




शीला दीक्षित द्वारा लिखित पुस्तक “दिल्ली मेरी दिल्ली: बिफोर एंड आफ्टर 1998”

1- दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने दिल्ली और इसके कई कम ज्ञात पहलुओं के विकास की तस्वीरों को अपनी पुस्तक में सहेजा है।

2- “दिल्ली मेरी दिल्ली: बिफोर एंड आफ्टर 1998” पुस्तक में उन्होंने स्वयं को दिल्ली का मुख्यमंत्री ना दर्शाकर, एक सामान्य नागरिक के रूप में प्रस्तुत किया है। इस सचित्र पुस्तक में सदियों से चले आ रहे दिल्ली शहर के विकास का पता चलता है।

 चीन के वैज्ञानिकों ने क्लोन से पहला बंदर (मकाक) विकसित किया

1- चीन में वैज्ञानिकों ने क्लोनिंग तकनीक में बड़ी सफलता हासिल की है। जिस तकनीक की मदद से 20 साल पहले डॉली नाम की भेड़ को क्लोन से तैयार किया गया था, उसी से दो क्लोन बंदरों को भी चीन के वैज्ञानिकों ने तैयार किया है।

2- लंबी पूंछ वाले इन दोनों बंदरों का नाम हुआ हुआ और चोंग चोंग है। उनका जन्म शंघाई स्थित चाइनीज अकैडमी ऑफ साइंसेज (CAS) इंस्टिट्यूट ऑफ न्यूरोसाइंस में हुआ है। यह समैटिक सेल न्यूक्लियर ट्रांसफर नाम की क्लोनिंग तकनीक में वर्षों के रिसर्च का परिणाम है।

3- इंस्टिट्यूट ऑफ न्यूरोसाइंस ऑफ सीएएस सेंटर फॉर एक्सिलेंस इन ब्रेन साइंस ऐंड इंटेलिजेंस टेक्नॉलजी के निदेशक मुमिंग फू ने बताया, ‘इस काम से बाधाएं खत्म हो गई हैं।




 आसियान-भारत स्मारक शिखर सम्मेलन के अवसर पर दिल्ली घोषणापत्र जारी किया गया

 1- भारत और दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों के संघ (आसियान) ने अपनी रणनीतिक साझेदारी को आगे बढ़ाते हुए समुद्री सुरक्षा, आतंकवाद व अन्य सीमापार अपराधों को रोकने के लिए मिलकर काम करने, क्षेत्रीय आर्थिक साझेदारी सहयोग के समझौते को निर्णायक परिणति तक पहुंचाने और भारत व आसियान के बीच परिवहन व डिजिटल कनेक्टिविटी को बेहतर बनाने का संकल्प व्यक्त किया है।

2- भारत-आसियान मैत्री रजत जयंती वर्ष शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और आसियान के नेताओं ने सर्वसम्मति से दिल्ली घोषणापत्र को सहर्ष स्वीकार किया जिसमें दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों और भारत के बीच हज़ारों वर्षों से विभिन्न संस्कृतियों में आदान प्रदान और सभ्यतागत संपर्क को दोनों के बीच सहयोग की मज़बूत बुनियाद बताया गया।

3- दिल्ली घोषणापत्र में गत 25 वर्षों से भारत आसियान संवाद के तीन स्तंभों- राजनीतिक-सुरक्षा, आर्थिक और सामाजिक-सांस्कृतिक सहयोग का उल्लेख किया गया और दोनों पक्षों के बीच शांति, प्रगति व साझा समृद्धि की साझेदारी की कार्ययोजना के क्रियान्वयन में प्रगति पर संतोष व्यक्त किया गया।

अंतरिक्ष में भारत-आसियान साझेदारी

1- भारत और आसियान मुल्कों ने अंतरिक्ष क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने पर सहमति जताई है, इस कड़ी में इंडोनेशिया के बाद वियतनाम ने भारत की मदद से रिमोट सेंसिंग ट्रैकिंग और डेटा प्रोसेसिंग सेंटर खोलने का फैसला किया है।

2- इसके जरिए भारत आसियान क्षेत्र में अपने सैटेलाइट मॉनीटरिंग के आंकडे इन मुल्कों के साथ साझा कर सकेगा।

3- भारत का अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो इस काम में वियतनाम रिमोट सेंसिग अथॉरिटी की मदद करेगा।

4- सेटेलाइट लांचिंग और ट्रैकिंग समेत अन्य क्षेत्रों में भी भारत आसियान देशों को सहयोग देगा।

5- अंतरिक्ष क्षेत्र में भारत और आसियान के बीच बढ़ता सहयोग चीन की चिंता बढ़ा सकता है।




error: Content is protected !!